कोरोनावायरस (Coronavirus) को जाने – हिन्दी में

कोरोनावायरस को समझे

  1. कोरोनावायरस (Coronavirus, Covid-19 तथा SARS-CoV-2) क्या है ?

कोरोनावायरस (Coronavirus):

  • यह वायरस की एक प्रजाति है या यूँ कहे तो वायरसो मे से एक किस्म है जो सामान्य सर्दी से लेकर गंभीर बीमारियों जैसे (SARS-CoV), (MERS-CoV) और COVID-19 को जन्म देता है।

2019 नॉवेल कोरोनावायरस (2019 novel coronavirus):

  • यह एक नया वायरस है जो 2019 में पहली बार (चीन के वुहान शहर मे) पहचाना गया था इससे पहले मनुष्यों में इसकी पहचान नहीं हुई थी।
  • तब इस वायरस का प्रोविज़नल नाम ‘2019 novel coronavirus (2019-nCoV)’ रखा गया था एवं अब इसका स्थायी नाम “सीवियर अक्यूट रेसपिरेट्री सिन्ड्रोम कोरोनावायरस 2 (SARS-CoV-2)” कर दिया गया है।

कोविड -19 (COVID-19):

  • यह वह बीमारी है जोकि SARS-CoV-2 नामक वायरस से इंसानों को हो रही है। यह बीमारी (जिसकी शुरुआत दिसम्बर 2019 मे चीन के वुहान शहर से हुई) है जो आज की तारीख मे महामारी के रूप मे पूरे विश्व मे फैल चुकी है।
  • भारत मे इस बीमारी के नए मरीजों के मिलने की संख्या बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है।

इस बीमारी की वजह से विश्व की अर्थव्ययस्था पर बहुत बुरा असर पड़ा है।

  1. इस वायरस की उत्पत्ति कहा से हुई ?

  • SARS-CoV-2 के स्रोत के विषय मे वैज्ञानिकों का मानना है कि इसकी चमगादड़ कोरोनावायरस (bat coronaviruses) के साथ करीबी आनुवंशिक समानता है, जिससे इसकी उत्पत्ति हो सकती है।
  • पैंगोलिन भी इस वायरस को मनुष्य तक पहुंचाने के श्रोत हो सकता है।
  1. यह वायरस इंसानों के शरीर मे कैसे पहुंचा ?

  • अब तक की उबलब्ध जानकारी के अनुसार यह वायरस प्राकृतिक है और यह जानवरों से इन्सानों मे स्थानांतरित हुआ प्रतीत होता है।
  • पहली बार यह वायरस वुहान शहर (चीन) में नवंबर या दिसंबर 2019 के दौरान संभवत: मनुष्यों मे किसी जानवर के संपर्क मे रहने, मांस से बने या फिर समुद्री खाना खाने से हुआ है।
  • साथ ही इस बात की भी संभावना निकाल के आई है कि यह वायरस जानवरों की बाज़ार मे काम करने वाले लोगों मे अथवा ऐसी बाजार मे आने-जाने वाले लोगों प्रवेश कर गया होगा।
  1. वायरस इतनी तेजी से कैसे फैल रहा है ?

  • इन्सानों से इंसानों मे बहुत तेजी से फैलेने का कारण इसका हवा या किसी सतह पर देर तक जीवित रहने की इसकी शक्ति है। यह वायरस इन्सानों के बीच मे मुख्य रूप से खांसी या छींकने से सांस की अति सूक्ष्म बूंदों के माध्यम से लोगों के बीच फैलता है।
  • कोई व्यक्ति जोकि कोरोनावायरस से संक्रमित है जब खांसता या छींकता है तो उसके थूक के बेहद महीन कण हवा में फैल जाते हैं जिनमें कोरोनावायरस होने की पूर्ण संभावना होती है।
  • और जब कोई स्वस्थ व्यक्ति उस जगह से गुजरता है तो ये कोरोनावायरस से भरे महीन कण सांस के रास्ते आपके शरीर में प्रवेश कर सकते हैं।
  • इसके फैलने का एक और कारण किसी ऐसी वस्तु को छूने के पश्चात जहां ये कण गिरे हैं तथा उन्ही हाथों से अपनी मुंह, नाँक या आँख को छूते हैं तो ये कण वायरस आपके शरीर में पहुंच जाता हैं।
  1. यह बीमारी इतनी खतरनाक क्यूँ  है ?

  • यह एक बहुत संक्रामक बीमारी है। यह किसी व्यक्ति या वस्तु को छूने या हवा (जहां वायरस मौजूद है) के माध्यम से फैल सकती है।
  • किसी संक्रमित व्यक्ति जिसके शरीर मे बीमारी के लक्षण नहीं दिख रहे है तब भी उसके द्वारा किसी और को फैल सकती है।
  1. क्या इसकी दवाई या वैक्सीन को खोज लिया गया है ?

  • विश्व के महान वैज्ञानिक दिन रात इसकी दवाई तथा वैक्सीन खोजने मे लगे हैं किन्तु अभी तक इसकी खोज नहीं हो सकी है।
  1. क्या यह  महामारी का रूप ले चुका है ?

  • हाँ, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 11 मार्च 2020 को इसे एक महामारी घोषित कर दिया है।
  1. इस महामारी के कितने चरण है ?

मुख्यता इस वायरस से महामारी के फैलने के चार चरण माने जा रहे हैं:

पहला चरण:

  • पहले चरण का मतलब यह की जो लोग विदेश से आए भारत आए हैं और उनके अंदर कोरोनावायरस पाया गया है।
  • भारत यह स्टेज बहुत पहले पार कर चुका है।

दूसरा चरण:

  • इस चरण में देश के विभिन्न शहरों मे रह रहे स्वस्थ लोग विदेश से आए किसी कोरोनावायरस से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क मे आते हैं एवं संपर्क मे आने पश्चात स्वस्थ यक्ति को भी संक्रमण हो जाता है।
  • इस स्टेज में संक्रमित लोग जिन जिन लोगों के संपर्क मे आता है उनको ट्रैक करा जा सकता है एवं उनकी जाँच करने के पश्चात पाज़िटिव पाए जाने पर क्वॉरन्टीन किया जा सकता है।

तीसरा चरण:

  • यह चरण काफी हद तक भयानक स्थिति को दर्शाता है।
  • इस चरण मे ‘कम्युनिटी ट्रांसमिशन’ होने के सबसे ज्यादा मौका होता है अर्थात जब कोई व्यक्ति संक्रमित देश की दौरा किए बिना अथवा किसी संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आए बिना ही इसका संक्रमित हो जाता है।
  • भारत जैसे विशाल एवं घनी आबादी वाले देश के लिए यह बहुत ही गंभीर चिंता की बात है।

चौथा चरण:

  • यह चरण संक्रमण की भयावह स्थिति है। इस चरण मे बीमारी महामारी के रूप मे स्थानीय स्तर फैल जाती है।
  1. भारत आज की तारीख मे कौन से चरण में है ?

  • भारत इस वक्त दूसरे चरण के अंतिम दिनों की तरफ बढ़ रहा है।
  • यदि भारत के नागरिकों ने इस महामारी की गंभीरता एवं अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए समझदारी से काम नहीं लिया तो तीसरे चरण मे देश को बड़ी मुश्किलों का सामना कर पड़ सकता है।
  • चौथा चरण तो मानव प्रजाति के लिए एक अभिशाप माना जा सकता है।

(वेबसाईट चेक करते रहिए – जल्द ही पोस्ट किया जाएगा)

Latest Post

Disclaimer: The information above is collected from internet and various newspaper articles and is indicative in nature, please correlate with the information provided by The Government, Doctors, Health Organisation or any other person or institution who has been authorised before proceeding to use it.

7 thoughts on “कोरोनावायरस (Coronavirus) को जाने – हिन्दी में”

Leave a Comment

Your email address will not be published.